क्षमा करो अपराध, शरण माँ आया हूँ.. | Kshama Karo Apradh Hindi Lyrics

Kshama Kro Apradh Sharan Maa Aaya Hu Vaishno Mata Shama Prathna Prayer In Hindi क्षमा करो अपराध, शरण माँ आया हूँ
क्षमा करो अपराध, शरण माँ आया हूँ - Kshama Kro Apradh Sharan Maa Aaya Hu Vaishno Mata Shama Prathna

माता वैष्णो भवन में दोनों समय की आरती के दौरान बोली जाने वाली क्षमा प्रार्थना “क्षमा करो अपराध, शरण माँ आया हूँ (Kshama kro apradh sharan maa aaya hu..) नीचे दी जा रही है। रोजाना वैष्णो देवी लाइव आरती के साथ आप भी इस क्षमा प्रार्थना को साथ-साथ दोहराकर माता की कृपा प्राप्त करें।


Shama Karo Apradh Hindi Lyrics

क्षमा करो अपराध, शरण माँ आया हूँ
माता वैष्णो द्वार में शीश झुकाया हूँ

Advertisement

देवों के सब संकट तारे
रक्त बीज मधु-कैटभ मारे
शुम्भ निशुम्भ असुर संघारे
किया भगत कल्याण, शरण माँ आया हूँ

बालकपन खेलों में गवायाँ
यौवन विषयों में भरमाया
बुढापन कुछ काम न आया
जीवन सफल बनाओ, शरण माँ आया हूँ

धन यौवन का साथ नहीं है
विदयाधन कुछ पास नहीं है
नाम बड़ा नहीं काम बड़ा नहीं
नहीं बड़ा कुल धाम, शरण माँ आया हूँ

धर्म मार्ग मुझको न सुहाते
सदा कुमार्ग मुझको भाते
मन चंचल तेरा ध्यान न करता
बड़ा चबल नादान, शरण माँ आया हूँ

Advertisement

घर बहार से हूँ ठुकराया
विषयों मैं भटका घबराया
समय गवां कर मैं पछताया
विषय सर्प मन डंसा, शरण माँ आया हूँ

माँ विपदा ने मुझे हैं घेरा
बिन तेरे अब कोई न मेरा
दीन बंधू माँ नाम है तेरा
करो सफल निज धाम, शरण माँ आया हूँ

पूजा भेटा कुछ नहीं लाया
मंत्र-यंत्र गुरु ज्ञान भुलाया
पाप-भार से शीश झुकाया
माता कर कल्याण, शरण माँ आया हूँ

माँ भक्तों को तुमने तारा
दैत्य पुत्र का रस रस न्यारा
पुत्र-कुपुत्र जगत में होते
माता देखे उन्हें ना रोते
वैष्णो कर कल्याण शरण माँ आया हूँ

क्षमा करो अपराध, शरण माँ आया हूँ
माता वैष्णो द्वार में शीश झुकाया हूँ

नोट: यदि आपको इस क्षमा प्रार्थना में कोई त्रुटी दिखाई पड़ती है तो कृपया हमें कमेंट में बताएं।

Advertisement

No Data
Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>