पांच हजार का इनाम

पांच हजार का इनाम (  )

एक गुरु और चेला समन्दर किनारे टहल रहे थे|वहा उन्होंने एक बोर्ड देखा जिस पर लिखा था,डूबते हुए को बचाने वाले को 500रूपये का इनाम दिया जाएगा|
बोर्ड पढ़ते ही गुरु को एक आइडिया सुझा उसने चेले से कहा मै समन्दर में कूद जाता हु|और मदद के लिए चिल्लाता हु |तुम मुझे बचा लेना जो 500 रूपये मिलेगे उसमे से 100 रूपये तुझे दूंगा|चेला कम पैसो से संतुष्ट नही था लेकिन मज़बूरी में हा बोल दी|
गुरु जी समंदर में कूदकर मदद के लिए चिल्लाने लगे|चेला आराम से बैठ कर देखता रहा|उसे यु बैठे देखकर गुरु जी बोले ,अबे अब आता क्यों नही मुझे बचाने?मुझे सचमुच तैरना नहीं आता |
चेला गुरूजी आपने बोर्ड ध्यान से नही पड़ा |निचे लिखा है,लाश निकालने वाले को 5000 रूपये का इनाम दिया जाएगा|

Advertisement

No Data
Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>