पायरिया से है परेशान तो अपनाए इन घरेलु उपचार को

पायरिया से है परेशान तो अपनाए इन घरेलु उपचार को (  )

दांतों की साफ सफाई में कमी होने से दातो की सबसे बड़ी बीमारी पायरिया हो सकती है। यह  सांसों की बदबू, मसूड़ों में खून और दूसरी तरह की कई परेशानियां उत्पन्न कर सकती है। पायरिया की वजह से ठंडा  पानी पीना भी मुस्किल हो जाता है इससे पानी पीना ही नही बल्कि कभी-कभी तो हवा भी दांतों को झनझना देता है।

जानिए पायेरिया क्या है और क्यों होता है:

पायरिया शरीर में कैल्शियम की कमी होने, मसूड़ों की खराबी और दांत-मुंह की साफ सफाई में कमी रखने से होता है। इस रोग में मसूड़े ढीले और खराब हो जाते हैं और उनसे खून आता है। सांसों की बदबू की वजह भी पायरिया को ही माना जाता है। मुंह में कई बैक्टीरिया होते है जो  समय पर मुंह, दांत और जीभ की साफ-सफाई नहीं की जाए तो ये बैक्टीरिया दांतों और मसूड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं।

Advertisement

पायरिया के लिए घरेलु उपचार:

  • पीपल के पेड़ की छाल को पानी में डाल कर उबाल ले और इसका काढ़ा बना ले अब इस काढ़े से गरारा कर ले इस परिक्रिया से पायरिया की बीमारी में जल्दी ही लाभ हो जाएगा ।
  • सरसों के तेल का उपयोग करके पायरिया के रोग को दूर किया जा सकता है पायरिया के रोग से मुक्ति के लिए इस उपाय को जरुर अपनाए ।अगर आपके दांतों से खून आता हो तो उसे बंद करने के लिए सरसों के तेल में नमक मिलाकर दांतों पर रोज लगाए इससे कुछ ही दिनों में आपके दांतों से खून बहना बंद हो जाएगा।
  • पायरिया के रोग को खत्म करने के लिए बबूल के पेड़ की कुछ लकडियो को लेकर जला ले अब  उसके कोयले को लाकर पीस ले अब इस कोयले के पाउडर में नमक मिला कर उस पाउडर से रोजाना सुबह उठकर मंजन करे जल्दी ही पायरिया का रोग ठीक हो जाएगी
  • आंवला जलाकर सरसों के तेल में मिलाएं  इसे मसूड़ों पर धीरे-धीरे मलें इससे पायरिया दूर हो जाता है।
  • नीम की पत्तियां, काली मिर्च और काला नमक मिलाकर पीस लें  इसका नियमित सेवन करें यह पायेरिया रोग में लाभ देगा ।
  • जीरा, सेंधा नमक, हरड़, दालचीनी, दक्षिणी सुपारी को समान मात्रा में लें  इसे बंद बर्तन में जलाकर पीस लें  इस मंजन का नियमित प्रयोग करें यह भी अच्छा इलाज है पायेरिया का।
  • फिटकरी और काला नमक बारीक पीसकर दांतों पर मलें।

No Data
Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>