Home > hindi story
Cat Fears Milk Doodh Na Peene Wali Billi Tenali Raman Short Stories In Hindi

दूध न पीने वाली बिल्ली  

जब नगर में चूहों का आतंक बढ़ने लगा तो महाराज कृष्णदेव राय ने सभी नगरवासियों को एक-एक बिल्ली देकर 3 महीने तक बिल्ली को दूध पिलाकर पालने का आदेश दिया।

Raja Shibi and Two Bird Story in Hindi राजा शिबी और कबूतर बाज की कहानी

राजा शिबी – जब कबूतर के प्राण बचाने के लिए काट दिया अपना ही धड

King Shibi Hindi Story - पुराने समय पहले की बात है उशीनगर देश में एक बड़े ही दयालु और धर्मात्मा प्रवृत्ति के राजा राज्य करते थे। जिनका नाम राजा शिबी

Ishwar Bada Dayalu Hain

ईश्वर बड़ा ही दयालु हैं, एक माली और राजा की कहानी

बहुत पुरानी बात है एक राजा ने राजमहल के पास ही फलों के बगीचे का निर्माण करवाया। जिसकी देख रेख के लिए एक माली को रखा। वह माली अपने परिवार

मांगो मत, देने वाले को अपने हिसाब से देने दो

मांगो मत देने वाला अपनी मर्जी से देगा

एक महिला अपने बच्चे के साथ दुकान पर गयी और सामान खरीदने लगीं बच्चा बड़ी मासूमियत से अपनी माँ के पास खड़ा हो गया। बच्चे की मासूमियत देख दुकानदार ने

Father and Son

पापा बाइक नहीं दिला सकते तो क्यूँ मुझे इंजीनियर बनाने के सपने देखतें हैं

आज हम आपको एक बेटे और पिता के भावनाओ को लेकर कहानी सुनाने जा रहे हैं। भले कहानी आपको अच्छी लगे न लगे पर इस कहानी से आपको कुछ सीखने

सुनहेरा पौधा (तेनालीराम की मनोरंजन कहानियाँ)

सुनहरा पौधा

तेनालीराम की बुद्धिमानी के किस्सों के पिटारे से आज हम आपके लिए लाएं है तेनालीराम की एक और कहानी "सुनहरा पौधा"। इस कहानी में महाराज कृष्णदेव राय सुनहरे फूल वाले

Seth Bne Pehredar Sar Par Bandh Pajama Akbar Birbal

सेठ बने पहरेदार सिर पर बांध पायजामा

अकबर बीरबल की मजेदार कहानियों की इस श्रृंखला में आप पढेंगे कि कैसे बीरबल ने अपनी बुद्धिमानी से सेठों को पहरेदारी करने से बचाया। पिछली कहानी पढ़ने के लिए आप यहाँ

बुरी संगति का असर ( दो मित्रों की कहानी)

बुरी संगति का असर

इस कहानी में आप जानेगे कैसे एक ईमानदार व्यक्ति भी बुरी संगति में रहकर एक ठग बनने चल पड़ा और बिना किसी कारण के दंड भोगना पड़ा। उदयपुर नाम का एक

paed ki gawahi

पेड़ की गवाही

रोशन जीवन के अंतिम पड़ाव में था इसलिए वह तीर्थयात्रा पर जाना चाहता था । उसने अपने जीवन भर की कमाई एक जगह एकत्रित कर रखी थी। जब उसके मन