बच्ची की मासूमियत

बच्ची की मासूमियत ( father and doughter love )

एक शहर में  राजेश  नाम का आदमी था उसकी एक बेटी थी छोटी सी 7 साल की  श्रेया राजेश अक्सर घर लेट आता था वह अपनी बेटी से मिल भी नही पाता था न ही उनमे बात हो पाती थी ज्यादा   बच्ची अपने पिता को बहुत मिस करती थी  एक दिन राजेश  देर रात तक काम करने के बाद थका-हारा घर पहुंचा

father_daughter-jpg_320_320_0_9223372036854775000_0_1_0

Advertisement

तो उसकी बेटी रात को 12 बजे तक जागी हुई थी की पापा से मिलके ही सोउगी आज राजेश आया  दरवाजा खोलते ही उसने देखा कि उसकी छोटी सी बेटी  सोने की बजाय उसका इंतज़ार कर रही  है

पापा को देखते ही बेटी पापा के गले लग गई और बोली पापा आप दिन भर में कितना कमा लेते हो ? राजेश ने कहा क्यों बेटा  क्या करोगी जानके

श्रेया बोली बताओ न पापा पहले ,राजेश थका था तो चिडकर बोला जाओ उधर अभी दिमाग न ख़राब करो

बच्ची फिर भी बोली बताओ ना पापा प्लीस

Advertisement

राजेश चिल्ला कर बोला बडो से मुह  ना  चलाया करो नहीं बताऊंगा मै कुछ जा कर चुपचाप सो जाओ श्रेया रोती हुई अपने कमरे में चली गई

राजेश अभी भी गुस्से में था और सोच रहा था कि आखिर उसकी बेटी  ने ऐसा क्यों पूछा कुछ समय बाद जब उसका घुस्सा उतरा तो उसने अपनी बेटी के पास जा कर पूछा की बेटा तुम क्यों पूछ रही थी ? शायद मैंने बेकार में ही तुम्हे डांट दिया।

मै  दिन भर के काम से  बहुत थक गया था  इसलिए घुस्सा किया मै  दिनभर में  500 रूपये कमाता हूँ श्रेया   दौड़ कर गई अपनी गुल्लक  निकाली और पिता के सामने फोड़कर पैसे गिनने लगी  और चिल्ला  कर खुश होकर बोली यह देखो पापा मेरे पास है 500 रूपये है

पापा आप यह 500 लेलो और कल ऑफिस मत जाओ पिता ने कहा क्यों बेटा ?

श्रेया बोली पापा कल मेरा बर्थ डे है और मै आपके साथ मनाना चाहती हूँ अपना बर्थ डे सबके पापा अपने बच्चो के पास होते है उनके जन्मदिन पर मेरे नहीं होते

यह सुनकर राजेश के आँखों में पानी भर आया उसने अपनी बेटी को गले लगा कर चूमा और कहा बेटा कल हम साथ आपका बर्थ डे मनाएगे अब तो खुश हो

Advertisement

fathers-day2

श्रेया बोली  मुस्कुराते हुए हां पापा

कहानी की सिख- अपने जीवन को इतना व्यस्त न बनाए की आप उनके प्यार से वंचित रह जाए जो आपको दुनिया में सबसे ज्यादा प्यार करते हो

Advertisement
No Data

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>