एक वृक्ष के छाल में इतने गुण है जानिए

एक वृक्ष के छाल में इतने गुण है जानिए (  )

दालचीनी का हम मसालों में हर दिन उपयोग करते हैं। यह दक्षिण भारत में ज्यादा मिलता है यह एक वृक्ष की छाल होती है। यह केवल मसाले के रूप में हीं नहीं उपयोगी है,तो आइए जानते हैं कि दालचीनी के और क्या-क्या फायदे हैं।

दालचीनी के फायदे जानिए-

  • दालचीनी में सुगंधित जड़ी बुटी में विदेशी महक है और मीठी खुशबु है। इसलिए इसका कई औषधियो में उपयोग किया जाता है।
  • दालचीनी  मसाला, दालचीनी के पेड़ की अंदरूनी भूरी रंग की छाल होती है। प्राचीन रोमन लोग दालचीनी का परफ्यूम बनाने में उपयोग करते थे।
  • दालचीनी दिल और किडनी के लिए बहुत लाभदायक है इस जड़ी बुटी से सर्कुलेशन बढ़ता है और इम्यून सिस्टम भी स्वस्थ रहता है।
  • दालचीनी को यदि शहद के साथ लिया जाए तो इससे वजन भी कम होता है।
  • दालचीनी का पोलीफिनॉल इन्सुलिन को बढ़ाता है दालचीनी कोलेस्ट्रोल को कम करती है।
  • दिल की बीमारियाँ होने के चांस कम होते है दालचीनी फैट को भी कम करती है और खून की अशुद्धियाँ को निकालती है।

dalchini

Advertisement
  • दालचीनी प्राकृतिक रूप से गले की बीमारियाँ, सर्दी और इनफ़्लुएनजा को ठीक करती है।
  • इससे शरीर स्वस्थ रहता है और ये पाचन क्रिया, नौसिया, उलटी और गैस की परेशानियों को ठीक करती है।
  • इसके एंटीफंगल, एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण इससे इन्फेक्शन नही होता दालचीनी यीस्ट इन्फेक्शन को भी नही होने देती।
  • दालचीनी साँसों की बदबू को भी कम करती है इसके अलावा आप 1 कप पानी में 1 चम्मच दालचीनी डालकर उसे माउथ वाश के रूप में भी उपयोग कर सकते है।
  • दालचीनी की कैंडी, टूथपेस्ट इत्यादि जिनसे आप अपने मुँह, जीभ और होठ का कडवापन हटा सकते है।
  • इसके सेवन से दिमाग चुस्त होता है और मन पॉजिटिव बना रहता है।
  • इस के सेवन से आपका सरदर्द भी कम होंगा और आप को सोने में भी सहायता मिलेगी है।
  • इससे आपकी प्रकृतिक तरीके से ही कफ और गले की परेशानिया भी ठीक होती है।
  • रोजाना एक चुटकी दालचीनी और 1 चम्मच शहद को लेने से नर्व की क्षमता और यादाश्त बढती है आप त्वचा को गोरा बनाने के लिए इसे चहेरे और गर्दन पे भी लगा सकते है।
  • चेहरे के मुँहासे और पिम्पल्स के लिए आप घरेलू उपचार के तौर पे 1 चम्मच निम्बू का रस और 1 चम्मच दालचीनी को मिलाकर लगाए।

 

No Data
Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>