Sunday, 26 March, 2017
Home > धर्म कर्म

गणेश जी का वाहन मूषक ऐसे बना गणेश पुराण के अनुसार

गणेश पुराण में बताया गया है की गणेश भगवान के वाहन मूषक कैसे बने इनकी कथा गणेश पुराण में मिलती  है। जो की आज हम आपको बताने जा रहे है निचे पढ़िए क्या है ये कथा। कथा के अनुसार द्वापर युग में एक बहुत ही खुरापाती मूषक हुआ करता था जो

Read More

मैहर शारदा माँ का चमत्कारी मंदिर

मैहर शारदा माता का एक प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर की चढ़ाई के लिए 1063 सीढ़ियों का सफ़र तय करना पड़ता है। इस मंदिर में दर्शन के लिए हर वर्ष लाखों की भारी भीड़ जमा होती है।मैहर की माँ शारदा , मध्यप्रदेश में चित्रकूट के निकट सतना जिले के मैहर

Read More

श्री कृष्ण के साथ ऐसे हुआ यदु वंश का विनाश

श्री कष्ण हिंदू धर्म के संपूर्ण अवतार कहे जाते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि श्री कृष्ण की मृत्यु् कैसे हुई थी? कैसे उनके यदुवंश का नाश हुआ? आइए आपको बताते हैं श्री कृष्ण की मृत्यु् और यदुवंश के विनाश के कारण क्या थे और क्यों हुआ यदु वंश

Read More

पांच पाण्डवो ने खाया अपने ही पिता का मांस जाने क्यों

एक समय की बात है पांडु को किसी ऋषि ने श्राप दिया था कि अगर वो किसी भी स्त्री से शारीरिक संबंध बनाएगा तो उसकी मृत्यु हो जाएगी। इसी दार से उन्होनें कभी भी कुंती और माद्री से शारिरीक संबंध नही बनाए थे। लेकिन कुन्ती को ऋषि दुर्वासा ने वरदान

Read More

भगवान शिव ने काटा ब्रम्हा का सर इसलिए

यह हम सभी को ज्ञात ही है और इसका उल्लेख तो पुराणों में भी है की ब्रम्हा  विष्णु और महेश यह संसार के सबसे शक्तिशाली भगवान हैं।यह सम्पूर्ण संसार के करता धरता है । पर यह भी सच है की ये तीनो ही श्रेष्ठ है। पर होती पूजा सिर्फ विष्णु और

Read More

इसीलिए देवो पर नही चड़ते केतकी के फूल !

यह तो आप सभी जानते है की ब्रम्हा जी  इस श्रृष्टि के रचना कार माने जाते है पर ये बात भी सत्य है की उनकी पूजा मन्दिरों में नही की जाती उसके पीछे भी एक कथा है। ब्रम्हा और विष्णु से ही जुडी है केतकी के फूल की कथा भी

Read More

स्वयं महादेव भी नही बच पाए थे कर्म फल दाता शनि की वक्र द्रष्टि से !

भगवान शिव इस सुंदर श्रृष्टि के निर्माण नायक है उन्होंने इंसान जानवर सबको बनाया और देवो को शक्ति दी उन्ही में से एक देव है।शनि देव जिनको कर्म फलदाता की उपाधि प्रदान की। कथा के अनुसार : एक समय शनि देव भगवान शिव के धाम हिमालय पहुंचे। उन्होंने  भगवान  शिव को प्रणाम

Read More

महादेव के ये 19 अवतार के बारे में जानिए

महादेव जिनका न आदि है न अंत है तीनो लोक के निर्माण नायक है जिन्होंने कई अवतार लिए ,धर्म ग्रंथों  के अनुसार भगवान शिव ने 19  अवतार लिए थे। जिनके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है नीचे स्लाइड में देखे महादेव के वे अवतार कौन से थे।नीचे स्लाइड में

Read More

आस्था भी है और व्यापार भी

हिंदू धर्म में मुंडन के नाम पर अधिकतर पुरुष ही अपने बाल अर्पण करते हैं धार्मिक आस्था कभी कभी व्यापार में भी मददगार हो जाती है हिन्दुओं की धार्मिक मान्यता मुण्डन (केश दान) इसका एक उदाहरण है तमिलनाडु के तिरूथतानी में बड़ी संख्या में महिलाएं अपनी मन्नत पूरी हो जाने

Read More

श्रीकृष्ण की पत्नी सत्यभामा का एकमात्र मंदिर

भगवान कृष्ण की आठ पटरानियों में से एक थीं सत्यभामा । पुराणों में दिए गए वर्णन के अनुसार, देवी सत्यभामा को इच्छाशक्ति की देवी माना जाता है। आंध्र प्रदेश में पुट्टपर्थी में, जहां पर कई प्रसिद्ध मंदिर हैं, वहां देवी सत्यभामा का भी एक मंदिर है। कहा जाता है कि

Read More