Home > lord shiva

आखिर शिव पुत्र “कार्तिकेय” ने कभी विवाह न करने का संकल्प क्यो लिया, जानिए वजह

यह तो हम सभी जानते है की भगवान शिव के दो पुत्र थे कार्तिकेय और गणेश, जहां गणेश के दो विवाह हुए वहीं कार्तिकेय ने विवाह न करने का निर्णय

सावन 2018: भोलेनाथ को बेल पत्र के अलावा ये पांच चीज भी है अति प्रिय

शिव पुराण में शिव और बेल के पत्तों की महिमा बताई गई है। कहा जाता है यदि शिवलिंग पर बेल पत्तियां चढ़ाई जाये तो भगवान शिव बहुत प्रसन्न होते हैं।

शिव की आराधना से होते है सभी काम पूरे

पुराण के अनुसार अनंत आकाश ,शिवलिंग ही है।ऋग्वेद में भी शिवलिंग की उपासना का उल्लेख मिलता है।मर्यादा पुरुषोतम श्री राम के अलावा दशानन रावण द्वारा भी शिवलिंग की उपासना करके

भगवान गणेश को आखिर क्यों? लगा हाथी का सिर, जानिए

शिवपुराण की कथा के अनुसार माता पार्वती ने अपने शरीर पर हल्दी का उबटन लगाया था फिर उस उबटन को हाथो से रगड़ कर निकाला और जमा किया उससे उन्होंने