टी.बी और अल्सर जैसी बीमारियों के लियें भी है “गुलाब” रामबाण दवा

टी.बी और अल्सर जैसी बीमारियों के लियें भी है “गुलाब” रामबाण दवा ( health benefits of roses )

गुलाब खुशबूदार पौधा  होता है  इसकी खुसबू मन को मोह लेती है यह फूल विटामिन सी से भरपूर होता है। गुलाब के फूलों का रस खून को साफ भी करता है।  गुलाब को महाकुमारी, तरूणी आदि नामों से भी  जाना जाता है। तो चलिए आपको गुलाब के  कुछ फायेदे  बताए।

दांतों के लिए

गुलाब के फूल  की पंखुडियो को चबाने से मसूडे  और दांत ठीक  रहते हैं तथा मजबूत होते है।

Advertisement

कब्ज में फायेदेमंद

गुलाब और त्रिफला को मिला कर चूर्ण बना ले अब उस चूर्ण को  नियमित  खाने से कब्ज ठीक हो जाता है।

यदि नींद ना आती हो तो

नींद ना आने की बिमारी हो   या फिर मानसिक तनाव  हो तो अपने आस पास इसके फूल को रखे या इसकी   पंखुडियां तकिए  के नीचे रखकर सोय तो इन परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है।  इसका पौधा सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा को भी दूर रखता है।

यदि आँतों हो जाये अल्सर

आंतो में अल्सर  हो तो मुलेटी सौंफ  गुलाब की  तीनों को आपस में मिलाकर  पानी में पका कर  पिए इससे जल्द ही आराम मिलता है।

sharbat7

Advertisement

हृदय रोग की समस्या

ह्रदय रोग में  गुलाब उबालकर पिने से फायेदा होता है  और  हृदय की धडकन की गति तेज  हो तो इसकी सूखी पंखुडियां उबालकर पिने से बहुत लाभ होता है। धड़कन की गति को कम किया जा सकता है।

इसका गुलकंद

गुलाब की पत्तियों का गुलकंद बना कर खाने से  अल्सर , गैस , कब्ज़ ,  और आँखों की रोशनी में मददगार होती है।

शरीर में हो जलन

यदि शरीर में जलन होने की समस्या होने  पर गुलाबजल को चंदन में मिलाकर  लगाया जाये तो  इससे जलन की समस्या दूर हो जाती है ।

अपच की समस्या में

अगर आपका खाया हुआ भोजन पच ना रहा हो तो खाने के बाद  गुलाब का गुलकंद खाया जाए तो यह  हाजमा ठीक करता  है।

यदि  मुंहसेआती है बदबू तो करे ये

मुंह की बदबू को दूर करने के लिए गुलाब के फूल, लौंग और चीनी को गुलाब जल में पीसकरखाया जाए तो यह मुंह की बदबू आने की समस्या  को दूर करता है।

यदि चंदन को मिलाए

चंदन के तेल में गुलाब के फुल  को मिलाकर मालिश करने से  पित्त के रोग में फायदा मिलता है।

Advertisement

सफेद चंदन और कपूर

चंदन पाउडर में कपूर और गुलाब जल को मिलाकर माथे पर लगाए तो  सर  दर्द ठीक हो जाता है।

यदि मुंह में हो जाए  छाले

अगर मुंह में छाले हो जाए  तो  मुंह के छालों से निजात पाने के लिए सुबह-सुबह गुलकंद का सेवन करें।

अगर लू लग जाए तो करे ये

लू लग जाए तो   ठंडे पानी में गुलाबजल मिलाकर माथे पर पट्टी रखें।ऐसा करने से लू में आराम मिल जाता है।

Advertisement

2013_07_30_04_05_50_rose-6

टीबी की बीमारी में

टीबी की बीमारी से होने वाली कमजोरी को दूर करना चाहते है तो  गुलाब के  गुलकंद का नियमित सेवन करने से कमजोरी ठीक हो जाती है।

Advertisement
No Data

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>