Friday, 18 August, 2017
Home > स्‍वास्‍थ्‍य टिप्‍स > अगर पड़ जाए पेट में कीड़े तो कीजिए ये घरेलु उपचार

अगर पड़ जाए पेट में कीड़े तो कीजिए ये घरेलु उपचार

अगर पड़ जाए पेट में कीड़े तो कीजिए ये घरेलु उपचार ( problem of stomach )

पेट के कीड़े कई प्रकार के होते हैं जैसे, व्हिपवर्म, गिर्डिएसिस, टेपवर्म्स, थ्रेडवर्म्स, पिनवर्म्स, राउंडवर्म्स इत्यादि। ऐसे बहुत से कारण हैं जिनके वजह से पेट में कीड़े होते हैं। यह अच्छे से न पके खाने,मांस, अशुद्ध पानी इत्यादि के सेवन से बढ़ जाते हैं। तो आइए इसके कारण और उपचार के बारे में जानिए।

लक्षण ये है-

  • पेट में ज़रूरत से ज़्यादा तकलीफ होना,डायरीया,उल्टी होना। इन्हें कुछ घरेलु नुस्खों से भी ठीक किया जा सकता हैं।

कारण ये हो सकते है –

  • खुदकी साफ़ सफाई न रखना एक कारण हो सकता हैं।साफ़ सफाई न रखने से भी यह कीड़े आपके आतों में पनप सकते हैं।

तो ये कर सकते है घरेलु उपचार  –

प्याज़ का रस

  • यह पेट के थ्रेडवर्म्स को साफ़ करने में मदद करता हैं। कुछ प्याज के टुकड़े लेकर उन्हें पीस ले और  उसका रस निचोड़ ले। इसे सुबह खाली पेट पियें।

सुरजना फली के बीज

  • दो ग्राम सुरजने की फली के बीज का पाउडर ठन्डे पानी के साथ लेने से पेट के कीड़े साफ हो सकते हैं।

तुलसी की पत्तियाँ

  • तुलसी की पत्तियाँ या तुलसी की मंजरी पेट के कीड़े मिटाने में लाभदायक हैं। तुलसी के पत्तो या मंजरी से आप दवा बना सकते हैं। यह पेट के कीड़ो से निज़ात दिला सकती हैं।

पपीता

  • कच्चे पपीते का 4 चम्मच दूध ले। इसमें 1 चम्मच शहद और 4 चम्मच उबला पानी डाले। यह कीड़ो को मारने के लिए अच्छा एंटी ऑक्सीडेंट हैं।

लहसुन

  • लहसुन के एंटी सेप्टिक और एंटी फंगल गुणों से किसी भी तरह के पेट के कीड़ो से निजात पायी जा सकती हैं। आप को बस 2 लहसुन की कली रोज खाना हैं।

नारियल

  • आप पेट के कीड़ो को पीसा नारियल खा कर भी खत्म कर सकते हैं। अरंडी का तेल पियें इससे भी कीड़े मर जाते है।

करेला

  • यह खाने में थोड़ा कड़वा हैं किन्तु पेट के कीड़ो को मारने में एकदम उपयुक्त हैं। बटर के दूध के साथ एक चम्मच करेले का रस पीने से तीन दिन के अंदर पेट के कीड़े खत्म किये जा सकते हैं।

उबला पानी

  • नमक को उबले पानी में डाल कर पीने से भी पेट के कीड़े मर जाते हैं। यह आप रोज सुबह खाली पेट पी सकते हैं

Title: problem of stomach

मिली-जुली खबरें

Shanu Shetri
Shanu Shetri - Editor at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *