Home > 2018 > अगस्त
Raksha Bandhan

रक्षा बंधन (राखी) का त्योहार

वैसे तो भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है , यहां समय समय पर बहुत से त्योहार मनाए जाते हैं । ऐसा ही एक त्योहार है रक्षाबंधन जिसे भाई-बहन के

September 2018 Vrat Festivals List

सितम्बर 2018 में होने वाले व्रत और त्यौहार

September 2018 Vrat Festivals List in Hindi - हिन्दू पंचाग यानि हिंदी कैलेंडर के अनुसार वर्ष 2018 के सितम्बर (September) महीने में कब और कौन से व्रत-उपवास, पर्व और त्यौहार

श्री गंगा चालीसा

॥दोहा॥ जय जय जय जग पावनी, जयति देवसरि गंग। जय शिव जटा निवासिनी, अनुपम तुंग तरंग॥ ॥ चौपाई ॥ जय जय जननी हराना अघखानी। आनंद करनी गंगा महारानी॥ जय भगीरथी सुरसरि माता। कलिमल मूल डालिनी

श्री लक्ष्मी चालीसा

॥दोहा॥ मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास। मनोकामना सिद्घ करि, परुवहु मेरी आस॥ ॥सोरठा॥ यही मोर अरदास, हाथ जोड़ विनती करुं। सब विधि करौ सुवास, जय जननि जगदंबिका॥ ॥चौपाई॥ सिन्धु सुता मैं सुमिरौ तोही। ज्ञान

श्री सरस्वती चालीसा

॥ दोहा॥ जनक जननि पद कमल रज, निज मस्तक पर धारि। बन्दौं मातु सरस्वती, बुद्धि बल दे दातारि॥ पूर्ण जगत में व्याप्त तव, महिमा अमित अनंतु। रामसागर के पाप को, मातु तुही अब हन्तु॥ ॥

श्री विन्ध्येश्वरी चालीसा

॥ दोहा॥ नमो नमो विन्ध्येश्वरी, नमो नमो जगदम्ब। सन्तजनों के काज में, करती नहीं विलम्ब॥ ॥ चौपाई ॥ जय जय जय विन्ध्याचल रानी। आदि शक्ति जग विदित भवानी॥ सिंहवाहिनी जय जग माता। जय जय

श्री महालक्ष्मी चालीसा

॥ दोहा॥ जय जय श्री महालक्ष्मी करुँ मात तव ध्यान । सिद्ध काज मम कीजिए निज शिशु सेवक जान ॥ ॥ चौपाई ॥ नमो महा लक्ष्मी जय माता, तेरो नाम जगत विख्याता । आदि शक्ति

श्री दुर्गा चालीसा

नमो नमो दुर्गे सुख करनी। नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥ निरंकार है ज्योति तुम्हारी। तिहू लोक फैली उजियारी॥1॥ शशि ललाट मुख महाविशाला। नेत्र लाल भृकुटि विकराला॥ रूप मातु को अधिक सुहावे। दरश करत

श्री सूर्य चालीसा

॥ दोहा ॥ कनक बदन कुण्डल मकर, मुक्ता माला अंग। पद्मासन स्थित ध्याइए, शंख चक्र के संग॥ ॥ चौपाई ॥ जय सविता जय जयति दिवाकर। सहस्त्रांशु! सप्ताश्व तिमिरहर॥ भानु! पतंग! मरीची! भास्कर!। सविता हंस! सुनूर विभाकर॥1॥ विवस्वान!