Home > ज्योतिष >

भगवान गणेश के परिवार की पूजा से मिलता है सर्वसिद्धियो का फल

भगवान गणेश के परिवार की पूजा से मिलता है सर्वसिद्धियो का फल

कथा अनुसार

एक बार शंकरजी और पार्वतीजी ने विचार किया कि हमारे दोनों पुत्र गणेश और कार्तिकेय अब विवाह योग्य हो गये हैं। दोनों को बुलाकर शंकरजी ने कहा कि जो सबसे पहले पृथ्वी की परिक्रमा करके लौटेगा उसका ही विवाह सबसे पहले होगा। कार्तिकेयजी पृथ्वी की परिक्रमा करने चल दिये पर बुद्धिमान गणेशजी ने माता पिता को आसन पर बिठाकर उनकी सात बार परिक्रमा की।

इस तरह गणेशजी ने अपने विवाह की योग्यता प्रमाणित की। प्रजापति विश्वरूप को जब इसका पता चला तो वह बहुत प्रसन्न हुए और उन्होंने अपनी पुत्रियों सिद्धि और रिद्धि का विवाह गणेशजी से कर दिया।

21-1426918405-09-1425891416-g7-600x450

गणेशजी के पत्नी सिद्धि से क्षेम और रिद्धि से लाभ नाम के दो पुत्र हुए। गणेशजी के परिवार के स्मरण-चिन्तन से सिद्धि, बुद्धि, क्षेम और लाभ की सहज प्राप्ति होती है।

Page: 3 of 4
Read all Latest Post on ज्योतिष Astrology in Hindi at Hindirasayan.com. Stay updated with us for Daily bollywood news, Interesting stories, Health Tips and Photo gallery in Hindi
Title: worship of lord ganesh and his two wife ridhi and shidhi astrology in Hindi | In Category: ज्योतिष Astrology

मिली-जुली खबरें

Shanu Shetri
Shanu Shetri - Author at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *