Saturday, 21 October, 2017
Home > आज का विचार > कुछ न करना

कुछ न करना

कुछ न करना ( nothing do )

कुछ न करना

  • कुछ न कुछ कर बैठने को ही कर्तव्य नहीं कहा जा सकता
  • कोई समय ऐसा भी होता है,
  • जब कुछ न करना ही
  • सबसे बड़ा कर्तव्य माना जाता है

– रवीन्द्रनाथ ठाकुर

Title: nothing do
Shanu Shetri
Shanu Shetri - Editor at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *