Monday, 24 July, 2017
Home > til

शनि जयंती : में करे ‘शनिदेव ’और ‘पितृदेव’ को खुश

कल है शनि जयंती शास्त्रों के अनुसार भगवान शनि का जन्म ज्येष्ठ महिने की अमावस्या को हुआ था,इसीलिए ज्येष्ठ महिने की अमावस्या को शनि जयंती के रूप में मनाई जाती है।ज्योतिष अनुसार शनिदेव की जो पूजा करता है उस पर शनि की कृपा बनी रहती है।आज हम इसी विषय में

Read More

बालों को तेल के इस्तेमाल से बनाए लम्बा और मजबूत

आजकल बालों का टूटना, गिरना या पतला होना एक आम समस्या हो गई है। अगर आप प्राकृतिक रूप से बालों की इन समस्याओं से छुटकारा चाहते हैं तो जानिए ऐसे ही कुछ उपाय जो बालों  के लिए लाभकारी होते हैं। इन तेलों से मिलेगा लाभ - सरसों तेल की मालिश सरसों का तेल बालों

Read More

अत्यधिक कष्ट भोगना पड़ रहा हो तो एक दिया जलाये शनिमहाराज़ को

हिन्दू धर्म में  दिये का एक अलग ही महत्व है हर हिन्दू परिवार में मंदिर स्थापित होता है और वहा हम रोज पूजा करते है और दिये को जला कर भगवान को प्रशन्न करते है तो चलिए आज हम आपको दिये के जलाने से क्या लाभ है बताए। दिया क्यों जलाते

Read More

जाने 2016 में श्राद्ध की तिथि तथा श्राद्ध का महत्त्व और इसे कैसे किया जाता है

ऐसा माना जाता है की किसी मनुष्य के  ,मरने के बाद विधिपूर्वक श्राद्ध और तर्पण ना किया जाए तो उसे मुक्ति नहीं मिलती और उसकी  आत्मा भूत के रूप में  भटकती रहती है। पितृ पक्ष  या आम भाषा में कडवे दिन हिन्दू धर्म में मृत्यु के बाद श्राद्ध करना बेहद जरूरी माना

Read More

भगवान सत्यनारायण कौन है उन्हें क्या प्रसाद चड़ता है तथा उनकी कथा क्या है आइए जाने

यह कथा भगवान विष्णु  के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। सत्यनारायण भगवान की कथा लोगो में बहुत प्रचलित है।  यह हिंदू धर्म में  सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के रूप में है| कुछ लोग मन्नत पूरी होने पर  अथवा कुछ लोग नियमित रूप से इस कथा का आयोजन करते

Read More