Friday, 24 November, 2017
Home > til

शनि जयंती : में करे ‘शनिदेव ’और ‘पितृदेव’ को खुश

कल है शनि जयंती शास्त्रों के अनुसार भगवान शनि का जन्म ज्येष्ठ महिने की अमावस्या को हुआ था,इसीलिए ज्येष्ठ महिने की अमावस्या को शनि जयंती के रूप में मनाई जाती

बालों को तेल के इस्तेमाल से बनाए लम्बा और मजबूत

आजकल बालों का टूटना, गिरना या पतला होना एक आम समस्या हो गई है। अगर आप प्राकृतिक रूप से बालों की इन समस्याओं से छुटकारा चाहते हैं तो जानिए ऐसे ही

अत्यधिक कष्ट भोगना पड़ रहा हो तो एक दिया जलाये शनिमहाराज़ को

हिन्दू धर्म में  दिये का एक अलग ही महत्व है हर हिन्दू परिवार में मंदिर स्थापित होता है और वहा हम रोज पूजा करते है और दिये को जला कर

जाने 2016 में श्राद्ध की तिथि तथा श्राद्ध का महत्त्व और इसे कैसे किया जाता है

ऐसा माना जाता है की किसी मनुष्य के  ,मरने के बाद विधिपूर्वक श्राद्ध और तर्पण ना किया जाए तो उसे मुक्ति नहीं मिलती और उसकी  आत्मा भूत के रूप में

भगवान सत्यनारायण कौन है उन्हें क्या प्रसाद चड़ता है तथा उनकी कथा क्या है आइए जाने

यह कथा भगवान विष्णु  के सत्य स्वरूप की सत्यनारायण व्रत कथा है। सत्यनारायण भगवान की कथा लोगो में बहुत प्रचलित है।  यह हिंदू धर्म में  सबसे प्रतिष्ठित व्रत कथा के