Home > satna

जिस बेटी को मरा समझ घरवालो ने किया था दाह संस्कार, वो अपने दादा के पास मिली

जिस लड़की को मरी हुई सोचकर अंतिम संस्कार तक हो गया था । वही लडकी अपने ही घर पर बैठी मिली ये चौका कर रख देने वाला मामला है,

पटरियों के बीच फंसा “बुजुर्ग” 3 मिनट तक गुजरती रही मालगाड़ी, फिर भी जिंदा बच निकला

इस वीडियो को देखकर वो मिसाल याद आती है “जाको राखे साइयां मार सके न कोए, बाल न बांका कर सके जो जग बैरी होय।” आपको इस बात की हैरानी