Tuesday, 24 October, 2017
Home > ram

भगवान शिव ने ब्राह्मण रूप धर की माता सीता और राम की अनगिनत परीक्षाएँ

ऐसी कई कहानियां है जिसमे आपने सुना होगा देवी देवताओ को भी परीक्षा देने होते थे सफलता पाने के लिए तो इंसान क्या चीज़ है ,देवी देवता ही परीक्षा देते

चमत्कारिक मंदिर:सच्चे मन से हाथ फेरा जाए तो चट्टानों से निकलता है पानी

चमत्कारिक मंदिर के बारे में सुनकर चौक जाएगे आप दुनिया इस मंदिर की चट्टानों पर अगर कोई सच्चे मन से हाथ फेरता है ,तो इन चट्टानों से पानी निकलने लगता

क्या आप जानते है शिव को झूठे लोग पसंद नहीं?

झूठ बोलने वाले लोग शिव को प्रिय नहीं हैं। इसी कारण शिव ने माता पार्वती का त्याग कर दिया था। क्योंकि उन्होंने भगवान राम से सीता रूप में मिलने के

भगवान शिव तथा माता सती का अदभुत प्रेम

सती परम पवित्र हैं, इसलिए इन्हें छोड़ते भी नहीं बनता और प्रेम करने में बड़ा पाप है। प्रकट करके महादेवजी कुछ भी नहीं कहते, परन्तु उनके हृदय में बड़ा संताप