Home > pachhtaya

इर्ष्या में किया खुदका नुकसान

एक व्यक्ति था शिवलाल वह कही जा ही रहा था और बहुत जल्दी में था, तो अचानक वहा न्याय के देवता यमराज प्रकट हुए यमराज ने शिवलाल से पीने के