Home > jyotish
learn about 12 houses in astrology hindirasayan

क्या कहते है जन्मकुंडली के 12 भाव

हिन्दू ज्योतिष में जिस प्रकार बारह राशियाँ होती है ठीक उन्ही के आधार पर बारह भावों की रचना की गयी है । इन बारह भावों पर ही पूरा ज्योतिष आधारित

दर्पण को सही जगह न टांगने से, आते हैं भारी संकट

आइना एक ऐसी चीज़ है जिसमे आप खुदको निहार सकते है ।आप कैसे दिख रहे है इसका सही जबाब आइना ही आपको दे सकता है। क्योंकि आप खुद उसमें अपने

कही आप गलती से तो नही कर रहे शनि देव को नाराज़ ?

शनि देव न्याय के देवता हैं, अगर शनि देव चाहें तो किसी भी रंक को भी राजा बना देते हैं और राजा को रंक | उनकी दृष्टि से कोई अपराधी

नए साल में अगर आप भी अपने परिवार में शांति और समृद्धि लाने के इच्छुक हैं तो करे ये काम

बीते हुएँ साल को भूलकर आने वाले नए साल में क्या होगा और क्या नहीं, इसके बारे में सोचें बिना करे कुछ अच्छा ताकि आने वाला नया साल पूरी तरह

पिछले जन्म में आप क्या थे इन 15 में से

ज्योतिष के अनुसार जाने की मनुष्य पिछले जन्म में किस जिव के रूप में  जी रहा था,जिस भी व्यक्ति में ऐसे गुण दिखाई दे तो यह समझा जा सकता है