Monday, 21 August, 2017
Home > कहानियां > राधा का अंधा विश्वास

राधा का अंधा विश्वास

राधा का अंधा विश्वास ( radha ka vishwas )

 

एक लड़की थी राधा । उसके पिता मजदूरी करते थे और मां भी मजदूरी करती थी वो अपने  मां-बाप की इकलौती लड़की थी उसके माँ बाप  चाहते थे कि वह पढ़ लिख कर  बहुत अमिर बने  जिससे उसे गरीबी में दिन गुजारने   न पड़ें।जब उसने गांव के स्कूल से 12वीं की परीक्षा  पास कि तो  वह बहुत खुश हुई।

indna07b

मां-बाप  ने फिर  जैसे तैसे  गांव से 1 घंटा  दूर शहर  में उसका  कॉलेज में नाम लिखा दिया। लेकिन एक दिन उसकी जिंदगी में एक नया मोड़ आया। एक लड़का था समीर वो कॉलेज में सेकंड इयर में पड़ता  था  राधा  समीर को अक्सर रास्ते में देखा करती थी। जब भी वह कॉलेज  आती और कॉलेज  से जाती, समीर  साइड  खड़ा उसे निहारा करता। पहले शुरू में तो राधा को  यह सब अच्छा नहीं लगा, लेकिन धीरे-धीरे वह भी उसे अच्छा लगने लगा था।

एक दिन समीर राधा के पास गया और बोला में तुमसे कुछ कहू तो बुरा तो नही मानोगी| तो उसने धीरे से सिर हिलाकर कहा नही ।समीर  ने एक गुलाब का फुल  निकाल कर उसके हाथ में रख दी और बोला-

fb_img_1460042470521

”मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। उठते-बैठते, सोते जागते हर समय बस तुम्हारे बारे में सोचता रहता  हूं।में तुम्हारे बिना रह नही सकता मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लगता है किसी चीज में मन नही लगता फिर राधा   उससे बोली अब कुछ मत बोलो में भी तुमसे प्यार करने लगी हु ।

बस दोनों में प्यार की लहर सुरु हो गई  समीर  रोज  जीने मरने की कसमें खाता।शादी के वादे करता ऐसा बहुत दिन तक चलता ही रहा

2016-best-romantic-love-shayari

एक दिन समीर  राधा  को घुमाने ले गया दोनों लोग नदी के किनारे  बैठ कर बातें करने लगे।लेकिन समीर के दिमाग में  तो कुछ ओर ही चल रहा था  ।वह उसे घुमाते घुमाते जंगलो में ले गया|

sad-shayari-in-hindi-for-girlfriend-facebook

लेकिन प्यार में अंधी हो चुकी राधा उसकी मंशा समझ नहीं पाई और उसने अपने आप को समीर  को सोप  दिया। दोनों लोग एक दूसरे के प्यार में ऐसे खोए कि दो जिस्म एक जान हो गए ।

happy-rose-day-shayari-for-girlfriend-in-hindi-on-valentine-day

अचानक वहा दो  लड़के ओर  आ गये। उन्हें देखकर राधा  चौक गई  और अपने कपड़े सही करने लगी।

gang-rape-in-gorakhpur

उनमे से एक  लड़का उसका हाथ पकड़ता हुआ बोला- इतनी भी क्या जल्दी है  थोड़ा हमारा भी तो मनबहला दो।राधा ने समीर की तरफ देखा उसे लगा उसका समीर उसकी सहायता करेगा  मगर वह यह सब देखकर हंसने लगा ओर बोला मेरे बेस्ट फ्रेंड है इनको दुखी मत करो राधा । यह देख कर  राधा का हृदय धक्क से रह गया । उसका विश्वास टूट चूका था जिसे वह अपना सबकुछ मान चुकी थी उसने उसे धोका दिया कसमे वादे झूठे निकले  सब उसके,वह तो बस उसके शरीर को प्यार करता था | राधा की  आँखे आसुओ से भर  गई थी वह सोच भी नही सकती थी की समीर ऐसा होगा वह बुरी तरह से टूट चुकी थी|

राधा कुछ कर ही  नहीं पाई। वे लड़के उसके शरीर पर भूखे भेडिए की तरह टूट पड़े राधा   मदद के लिए चिल्लाती रही पर कुछ नही हो पाया

कुछ समय बाद राधा बेहोश हो गई ,वो  लड़के और उसका प्रेमी  उसे वहा वेसा ही छोड़कर वहां से जा चुके थे। राधा  की  दुनिया अंधेरे से भर चुकी थी। उसे अपना जीवन समाप्त होता हुआ लग रहा था।

वह सोचती रही कि क्यों मै  उस धोकेबाज़ ,मतलबी लड़के की बातों पर यकीन  किया। क्यों मैं उसके साथ यहां पर आई। अब मैं अपने मां-बाप को क्या बताऊंगी। मेरा ये हाल देखकर उनका क्या हाल होगा

राधा गिरती पड़ती घि‍सटती हुई नदी के किनारे पहुंची।और

large

वह डूब गई उसका शरीर बहते बहते बहुत दूर चला गया देखते देखते गाएब हो गया | वहा उसके माता पिता उसे खोजते रहे पर वह नही मिली न ही उन्हें पता चला की उसके साथ क्या हुआ ? वो कहा गई उसकी माता का  रो रो कर बेहाल हो गया|

 

कहानी की सिख-

किसी से प्यार करना, किसी पर भरोसा करना बुरा नहीं है, लेकिन जज्बातों को पहचानने की क्षमता भी होनी चाहिए  किसी को अपना तन-मन सौंपने से पहले उसके परिणामों के बारे में भी जरूर सोचिए।क्या वो आपके प्रति वफादार है आपको जितना प्यार है क्या उसे भी है क्या वो आपका साथ देगा अगर आप ये सब नही सोचेगे तो आप भी धोखा खा सकते हैं

 

 

Title: radha ka vishwas

मिली-जुली खबरें

Shanu Shetri
Shanu Shetri - Editor at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *