Home > कहानियाँ > प्रेरक कहानियां > जब सुकरात से एक युवक ने पूछा, “सफलता का रहस्य क्या हैं?”

जब सुकरात से एक युवक ने पूछा, “सफलता का रहस्य क्या हैं?”

जब सुकरात से एक युवक ने पूछा, “सफलता का रहस्य क्या हैं?” ( mystery of success )
जब सुकरात से एक युवक ने पूछा सफलता का रहस्य क्या हैं?

सफलता का रहस्य क्या हैं? जब यह प्रश्न एक युवक ने युनान के प्रसिद्ध दार्शनिक सुकरात से किया तो इस प्रश्न के उत्तर में सुकरात ने उस युवक को कल सुबह नदी किनारे मिलने के लिए कहा।

अगले दिन सुबह के समय वह युवक और सुकरात दोनो नदी किनारे पहुंच गए। सुकरात ने नौजवान युवक से उनके साथ पानी मे आगे बढ़ने को कहा। युवक सुकरात के साथ नदी में पानी की ओर बढ़ता चला गया। जब आगे बढ़ते-बढ़ते पानी गले तक आ गया। तब अचानक सुकरात ने उस युवक का सिर पानी मे डुबो दिया। नौजवान युवक अपना सिर बाहर निकालने के लिए छटपटाने लगा। सुकरात ताकतवर थे इसलिए युवक का पानी से बाहर निकलने का हर प्रयास विफल होता जा रहा था।

जब शरीर नीला पड़ने लगा तब जाकर सुकरात ने उस युवक का सिर पानी से बाहर निकाला और बाहर निकलते ही जो काम नौजवान ने सबसे पहले किया वो था हाँफते हुए जल्दी-जल्दी सांस लेना। सुकरात ने उस युवक से पूछा – जब तुम्हारा सिर पानी के भीतर था तब तुम सबसे ज्यादा क्या चाहते थे।

नौजवान युवक ने उत्तर दिया – सांस लेना, सुकरात ने कहा – बस, यही सफलता का रहस्य है। जब तुम सफलता को उतना ही ज्यादा चाहोगे जितना कि तुम उस वक्त सांस लेना चाहते थे तो वो तुम्हे जरूर मिल जाएगी।

Title: mystery of success

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *