Home > कहानियाँ > नैतिक कहानियाँ
बुरी संगति का असर ( दो मित्रों की कहानी)

बुरी संगति का असर

इस कहानी में आप जानेगे कैसे एक ईमानदार व्यक्ति भी बुरी संगति में रहकर एक ठग बनने चल पड़ा और बिना किसी कारण के दंड भोगना पड़ा। उदयपुर नाम का एक

Camel and Jackal Hindi Story (ऊंट और सियार की हिंदी कहानी)

जैसी करनी वैसी भरनी – ऊंट और सियार की कहानी

एक जंगल में ऊंट और सियार रहते थे। उस जंगल के पास ही खरबूजों का खेत था लेकिन खेत और जंगल के बींच में एक नदी पड़ती थी। एक दिन

भैंस का बंटवारा

एक बार दो मित्र व्यापार करने जाते हैं उनके पास चार सौ रूपये होते हैं। एक मित्र चतुर होता है तथा दूसरा मित्र मूर्ख। चतुर मित्र भैंस खरीदने की सलाह

मेहनत की कमाई का मूल्य

एक लड़का था करीब 12 या 13 साल का जो काफी आलसी और निक्कमा था। उसके माता-पिता उसके ऐसे व्यवहार से काफी परेशान थे और उसके भविष्य के बारे में सोचकर 

Ishwar Bada Dayalu Hain

ईश्वर बड़ा ही दयालु हैं, एक माली और राजा की कहानी

बहुत पुरानी बात है एक राजा ने राजमहल के पास ही फलों के बगीचे का निर्माण करवाया। जिसकी देख रेख के लिए एक माली को रखा। वह माली अपने परिवार

मुसीबत में सच्ची मित्रता ही काम आती है

मीकु खरगोश को जाड़े के आगमन का अहसास हो रहा था। उसने सोचा हर साल उसे सर्दी में ठिठुरना पड़ता है क्यों न इस बार दोस्तों के साथ मिलकर अपने

ईश्वर जो भी करता हैं, मनुष्य के भले के लिए ही करता हैं

बहुत पुरानी बात हैं, एक बार एक राजा अपने मंत्रियो सहित जंगल में शिकार खेलने के लिए जाते हैं। जंगल में शिकार करते हुए अचानक किसी कारणवश राजा के हाथ