Friday, 15 December, 2017
Home > कहानियां > घोड़ो की भूख

घोड़ो की भूख

घोड़ो की भूख ( hungry horses in hindistory )

राजन नाम का एक व्यक्ति था उसके पास दो घोड़े थे  उन दोनों घोड़ो की कभी बनती ही नही थी राजन परेशान हो गया था उन दोनों से  एक बार राजन ने दोनों को एक रस्सी से बाँध दिया। और खाना खाने चला गया इतने में दोनों घोड़ो ने रस्सी को तोड़ने की पूरी कोशिश की पर नही तोड़ पाए।

europe-horses

थक हार कर चुपचाप खड़े हो गए कुछ देर बाद दोनों को भूख लगी। लेकिन आस-पास खाने के लिए कुछ नहीं था। दोनों खाने कि तलाश में  वहा से एक साथ चल दिए पर कुछ दूर चलके दोनों अलग अलग जाने लगे पर क्या करते एक रस्सी से बंधे थे अलग अलग जा ही नही पा रहे थे

फिर जैसे तैसे दोनों एक जगह पहुच गए जहा ढेर सारी घास लगी थी  और वही दूसरी तरफ  फुल लगे हुए थे  दोनों उन्हें देखकर अलग अलग दिशा में जाने लगे पर जा ही नही पा रहे थे बहुत देर तक जोर लगाने के बाद दोनों ने सोचा भूख ज्यादा लगी है क्या किया जाये

red-horse

भूख ऐसी चीज है जिसे कोई भी ज्यादा देर तक बर्दाश्त नहीं कर सकता अब दोनों ही घास की तरफ बड़े और घास खाने लगे फिर फुल के तरफ बड़े फुल भी खाया इस तरह उन दोनों ने अपनी भूख मिटाई ।उसके बाद वह दोनों समझ गए कि मिलजुल कर हर कार्य को करना चाहिए।तभी सफलता मिलती है

कहानी की सिख -जिंदगी में कभी ऐसा भी होता है जिससे हमारे अंदर अहंकार भर जाता है अहंकार के कारण हम अपनी ही हानि करवाने लगते हैं।जो की गलत है हमे जितना हो सके अपने आस-पास के लोगों से मेल भाव बढ़ाना चाहिए ताकि वक़्त आने पर हम उनकी और वो हमारी सहायता कर सके

Title: hungry horses in hindistory
Shanu Shetri
Shanu Shetri - Editor at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *