Friday, 18 August, 2017
Home > सोशल मीडिया > इन लोगो ने ज़िंदा जानवर को किया बाघ के हवाले, बस इतनी सी थी बात

इन लोगो ने ज़िंदा जानवर को किया बाघ के हवाले, बस इतनी सी थी बात

disgruntled shareholders of Chinese zoo feed a live donkey to tigers

हम सभी को अच्छे से पता हैं कि इस दुनिया में प्रकृति का नियम फ़ूड चैन चलता हैं। लेकिन जिस घटना के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। उसमे तो एक जीवित जीव को कुछ इंसानों ने मिलकर सीधे शिकारी जानवर के सामने फ़ेंक दिया। सोशल मीडिया पर नज़र डाले तो यूज़र इस घटना की कड़ी आलोचना कर रहे हैं।

 

क्या है पूरा मामला

दरअसल घटना पूर्वी चीन के Jiangsu में बनें चांगजाउ ज़ू की हैं। जहाँ ज़ू कर्मचारी मिलकर एक जिन्दे गधे को भूखे बाघो के सामने धकेल देते हैं। रेन कोट पहने कुछ कर्मचारी गधे को एक तालाब में फ़ेक देते हैं। जिसमे तीन बाघ पहले से ही घात लगाये मौजूद रहते हैं। जैसे ही जिन्दा गधा उस तालाब में धकेल दिया जाता हैं। तो उनमे से एक बाघ फ़ौरन उस गधे पर टूट पड़ता हैं।

वीडियो: भूखे भालू से मजाक करना टूरिस्ट को पड़ा भारी, बाड़े में खींच किया अधमरा

कभी उसकी गर्दन पर तो तभी कान पर वार करता है। तालाब के किनारे पर मौजूद दूसरा बाघ ऊपर से ही पंजे मारने की कोशिश करता हैं। गधा छटपटाता हैं, और एक बार तो उनके चंगुल से छूट भी जाता हैं, लेकिन शिकारी बाघ फ़िर से उस पर हमला कर देते हैं। और कुछ देर बाद उस गधे को अपना भोजन बना डालते हैं।

भूखे बाघों के सामने जिंदा गधे को फेंका, यहाँ वीडियो में देखें पूरी घटना

 

ये था कारण

Raw Story की एक रिपोर्ट के मुताबित, चीन के चांगजाउ नामक wild animal park के इन्वेस्टर्स को 2 साल से ज़ू से कोई कमाई नही हो पा रही हैं। दूसरी और ज़ू के ऊपर कुछ कर्ज होने के कारण कोर्ट ने ज़ू की एसेट भी फ्रीज़ कर दी थी। इस बात से नाराज शेयर होल्डर्स ने अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए जिन्दा जीवो को बाघ के हवाले करने का फ़ैसला लिया। और फ़िर एक जिन्दे गधे को बाघ के बाड़े में धकेल दिया।

एक शेयर होल्डर ने विरोध प्रदर्शन करते हुए, स्थानीय मीडिया को ये भी बताया की 2 वर्षो से हमे जू से कोई लाभ नहीं हो रहा है तो क्यों ना जानवरों को बाघों को खिला दिया जाएं। इस तरह कम से कम बाघों के खाने पर होने वाले खर्च को तो बचा सकते हैं।

 

Title: disgruntled shareholders of chinese zoo feed a live donkey to tigers

मिली-जुली खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *