Home > धर्म कर्म > कभी सुना है ऐसे मंदिरों के प्रसाद के बारे में, कही मिलती हैं चाऊमीन तो कही डोसा

कभी सुना है ऐसे मंदिरों के प्रसाद के बारे में, कही मिलती हैं चाऊमीन तो कही डोसा

हलवा: भारत के मंदिरों में मिलने वाला प्रसाद
हलवा: भारत के मंदिरों में मिलने वाला प्रसाद

मंदिरों में आम तौर पर बस आपने नारियल, मिश्री, चिरोंजी,चने या कोई मिठाई ही खाई होगी पर आज हम ऐसे मंदिरों के बारे बताने जा रहे है जहाँ अजीब-अजीब तरह के प्रसाद मिलते है तो नीचे पढ़िए की कौन से है ये मंदिर और क्या है वे प्रसाद जो मन्दिरों में भक्तो को दिए जाते है।

1. करणी माता का मंदिर

karni-mata-rajasthan-bikaner

राजस्थान के बीकानेर का करणी माता का मंदिर हिन्दुओ के बहुत ही प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है । इस मन्दिर को चूहों वाली माता के नाम से भी जाना जाता  है । यहाँ के श्रद्धालुओं का कहना है की करणी माता साक्षात मां जगदम्बा की ही अवतार है । इस मंदिर में 20000 से भी ज्यादा चूहें रहते है । संगमरमर से बने इस मंदिर में प्रवेश करते ही आपको अपने कदम उढ़ाकर नहीं बल्कि जमीन पर घसीटते हुए आगे रखने होते है। क्योकि पूरे मंदिर के प्रांगण में चूहे ही चूहे मौजूद रहते है ये चूहे भक्तों के शरीर पर कूद-फांद करते हैं, परन्तु किसी भी भक्त को कोई नुकसान नहीं पहुंचाते। यहाँ के लोग इन चूहों को करणी माता की ही सन्तान मानते है और प्रसाद में इन्ही चूहों का जूठा प्रसाद ही भक्तों को देते है। मान्यता के अनुसार यदि किसी भक्त को यहां सफेद चूहे के दर्शन हो जाएं तो इसे बहुत ही शुभ माना जाता है।

 

2. राधा कृष्ण का रंगमहल

उत्तर प्रदेश के वृंदावन स्तिथ निधि वन में रंगमहल नामक राधा कृष्ण का मन्दिर है जहाँ भक्त केवल श्रृंगार का सामान ही चढ़ाते है और उन्हें  प्रसाद  में भी श्रृंगार का सामान ही मिलता है।

radha-damodar-mandir

3. खबीस बाबा मंदिर

उत्तरप्रदेश के सीतापुर में स्थित खबीस बाबा मंदिर में भक्त शराब बाबा को चढ़ाते है और वही  भक्तो को शराब प्रसाद के रूप में  दिया जाता है

magical_tempal_pic_4

Page: 1 of 2
Title: have you ever heard about the offerings of such temples religion in Hindi | In Category: धर्म कर्म  ( religion )

मिली-जुली खबरें

Shanu Shetri
Shanu Shetri - Author at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *