Home > धर्म कर्म > धार्मिक कथाएं
महाकाल का मनभावन श्रृंगार

शिव पुराण : “महाकालेश्वर” की अद्भुत कथा

उज्जैन नगरी यानि के महाकाल की नगरी यहाँ स्तिथ महाकाल ज्योतिर्लिंग शिव जी का तीसरा ज्योतिर्लिंग कहलाता है। यह एक मात्र ज्योतिर्लिंग है जो दक्षिणमुखी है। आज हम आपको पुराणों

अगर मान ली ये बात तो जरूर मिलेगा ईश्वर का साथ

एक बार श्रीकृष्ण और अर्जुन वार्तालाप करते हुए नगर की ओर भ्रमण के लिए निकले। मार्ग में उन्हें एक ब्राह्मण भिक्षा मांगते हुए दिखाई पड़ा। निर्धन ब्राह्मण की दशा देखकर अर्जुन

god with white hair

जब अपने भक्त को बचाने की लिए प्रभु को करने पड़े बाल सफ़ेद

मानो तो भगवान ना मानो तो पत्थर हूँ, हिंदी के इस मुहावरे का ठीक मतलब इस कहानी से सिद्ध हो जाता हैं जो की आप नीचे पढ़ने जा रहे हैं.... एक