Tuesday, 24 October, 2017
Home > यात्रा > आप माँ वैष्णो देवी के दरबार जाना चाहते है तो जानिए माँ के दरबार की यात्रा कैसे होती है

आप माँ वैष्णो देवी के दरबार जाना चाहते है तो जानिए माँ के दरबार की यात्रा कैसे होती है

आप माँ वैष्णो देवी के दरबार जाना चाहते है तो जानिए माँ के दरबार की यात्रा कैसे होती है ( maa vaishnodevi darbar in religion )

माँ के दरबार पहुचने के लिए  सबसे पहले क्या करे…..

आप जम्मू तक  बस, टैक्सी, ट्रेन या फिर हवाई जहाज से पहुँच सकते हैं। माँ वैष्णो देवी की यात्रा का पहला पड़ाव जम्मू  ही होता है।

Jammu_Tawi_to_Delhi_-_Rail_side_views_02

माँ के भवन तक की यात्रा की शुरुआत कटरा से होती है…..

आप जम्मू से बस या टैक्सी और आजकल तो ट्रेन भी जाती है जिसके  द्वारा कटरा पहुँच सकते हैं। जम्मू रेलवे स्टेशन से कटरा के लिए आपको कई बसें मिल जाएँगी, जो आपको  2 घंटे में ही  आसानी से कटरा  तक पंहुचा सकते हैं।

68452286

माँ वैष्णो देवी यात्रा की शुरुआत जम्मू से कटरा  होती है। वहा आपको कई अच्छी अच्छी जगह मिल जाएगी विश्राम के लिए बहुत यात्री यहाँ विश्राम करके अपनी यात्रा की शुरुआत करते हैं। माँ के दर्शन के लिए रातभर यात्रियों की चढ़ाई का सिलसिला चलता रहता है।हमको सबसे पहले पर्ची लेनी होती है| कटरा से ही माता के दर्शन के लिए नि:शुल्क ‘यात्रा पर्ची’ मिलती है।

DSC01948-640x480
पर्ची लेने के बाद ही आप कटरा से माँ वैष्णो के दरबार तक की चढ़ाई की शुरुआत कर सकते हैं……

यह पर्ची लेने के तीन घंटे बाद आपको चढ़ाई के पहले ‘बाण गंगा’ चैक पॉइंट पर इंट्री करानी पड़ती है और वहाँ सामान की चैकिंग कराने के बाद ही आप चढ़ाई प्रारंभ कर सकते हैं। यदि आप यात्रा पर्ची लेने के तीन घंटे बाद तक चैक पोस्ट पर इंट्री नहीं कराते हैं तो आपकी यात्रा पर्ची रद्द हो जाती है। इसलिए ध्यान पूर्वक पर्ची जरुर ले , यात्रा प्रारंभ करते वक्त ही यात्रा पर्ची लेना ही ठीक होता है।
IMG_2146
यात्रा के दोरान आपको जगह जगह  पर जलपान व भोजन.मेडिकल,डॉक्टर,बाथरूम, की व्यवस्था मिलेगी, इस कठिन चढ़ाई में आप थोड़ा विश्राम कर चाय, कॉफी पीकर फिर से उसी जोश से अपनी यात्रा प्रारंभ कर सकते हैं।

114095257

कटरा, से भवन तक की चढ़ाई के अनेक स्थानों पर  क्लोक रूम’ की सुविधा भी उपलब्ध है, जिनमें निर्धारित शुल्क पर अपना सामान रखकर यात्री आसानी से चढ़ाई कर सकते हैं।

कटरा ही वह अंतिम स्थान है जहाँ तक यातायात के साधनों से आप पहुँच सकते हैं। कटरा से 12 किमी की खड़ी चढ़ाई पर भवन माता वैष्णो देवी की पवित्र गुफा है। भवन से 8 किमी दूर ‘भैरवनाथ का मंदिर’ है। भवन से भैरवनाथ मंदिर की चढ़ाई हेतु किराए पर पिट्ठू, पालकी व घोड़े की सुविधा भी उपलब्ध है।
Vishno-Devi-Temple-CCD-1024x768
जो यात्री कम समय में माँ के दरबार जाना चाहते है |तो वह  हेलिकॉप्टर सुविधा का लाभ भी उठा सकते हैं। लगभग 2200 से 2800 रुपए देकर यात्री कटरा से ‘साँझीछत’  तक हेलिकॉप्टर से पहुँच सकते हैं।

आजकल अर्धक्वाँरी से भवन तक की चढ़ाई के लिए  बैटरी  कार  की भी सुविधा कर दी गई है यात्रीयो के लिए|, जिसमें लगभग 3  से 4

यात्री एक साथ बैठ सकते हैं। माता की गुफा के दर्शन के लिए बहुत से भक्त पैदल चढ़ाई करते हैं और कुछ इस कठिन चढ़ाई को आसान बनाने के लिए पालकी, घोड़े या पिट्ठू किराए पर लेते हैं।

DSC01950-640x480

छोटे बच्चों को चढ़ाई पर उठाने के लिए भी आप वहा के स्थानीय निवाशियो को बुक कर सकते हैं, जो निर्धारित शुल्क पर आपके बच्चों को पीठ पर बैठाकर चढ़ाई करते हैं।

DSC01993-640x480

माँ के दरबार में रुकने या विश्राम करने हेतु स्थान…..

माता के भवन में पहुँचने वाले यात्रियों के लिए जम्मू, कटरा, भवन के आसपास  स्थानों पर माँ वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की कई धर्मशालाएँ व होटले हैं, जिनमें विश्राम करके आप अपनी यात्रा की थकान को मिटा सकते हैं, जिनकी  बुकिंग कराके आप परेशानियों से बच सकते हैं। आप चाहें तो प्रायवेट होटलों में भी रुक सकते हैं।

05

अगर आप नवरात्रों में जाना चाहते है तो यहा लगता है तब भव्य मेला…..

compressed

माँ वैष्णो देवी के दरबार में नवरात्रि के नौ दिनों में हर दिन  लाखों की संख्या में भक्त आते हैं। कई बार तो श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या से ऐसी स्थिति हो जाती है कि पर्ची काउंटर से यात्रा पर्ची देना बंद करनी पड़ती है।

f7a79605aaddfbb2da9db69f6d2e739f

कटरा व जम्मू के नज़दीक कई दर्शनीय स्थल ‍हैं, जहाँ जाकर आप जम्मू की ठंडी हसीन वादियों का लुत्फ उठा सकते हैं। जम्मू में अमर महल, बहू किला , मंसर तालाब , रघुनाथ मन्दिर आदि देखने लायक स्थान हैं।
कटरा के नजदीक शिव खोरी, झज्झर कोटली, सनासर, बाबा धनसार, मानतलाई, कुद, बटोट आदि कई दर्शनीय स्थल हैं। जहा पर आप जा कर आप अपनी यात्रा को यादगार बना सकते

railways-trains630

माँ वैष्णो के दरबार जाने का सबसे अच्छा समय……

Vaishno-Devi

माँ के दरबार जाने का सबसे अच्छा मौसम गर्मी का है|वैसे तो माँ वैष्णो देवी के दर्शनार्थ वर्षभर भक्त जाते हैं पर सर्दियों में भवन का न्यूनतम तापमान -3 से -4 डिग्री तक चला जाता है और बरसात के  मौसम में  पहाड़ो  के खिसकने का खतरा भी रहता है। इस मौसम में यात्रा करने से बचे  ताकि दिक्कतों का सामना न करना पड़े । यदि आप यात्रा पर जाना चाहते है तो आपकी यात्रा मंगलमय हो|

“जय माता की”

Title: maa vaishnodevi darbar in religion
Shanu Shetri
Shanu Shetri - Editor at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *