Home > मनभावन > यहाँ लगता है गधो का मेला

यहाँ लगता है गधो का मेला

यहाँ लगता है गधो का मेला ( donkeys fair )

गधों को भले ही गैर समझदार जानवर समझा जाता हो लेकिन गधों की कई खूबियां होती हैं । राजस्थान की राजधानी जयपुर के समीप बसा एक गांव, जिसका नाम है भावगढ़ बंध्या। यहां स्थित खलखाणी माता के मंदिर पर समिति के द्वारा इस मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमें देश के कई राज्यों से गधों के मालिक अपने गधों को लेकर आते हैं।

इस मेले में होती है गधो की प्रतियोगिता भी:

इस मेले में अच्छी नस्ल के गधो को लाने पर इनाम भी दीया जाता है।गधो को एक एक कर सबके सामने दिखाया जाता है और फिर वहाँ आए सारे गधो में से चुना जाता है अच्छी नस्ल के गधे को।

हजारों रुपए चुकाकर खरीदा भी जाता है:

इस मेले में गधों को उनकी खासियत के हिसाब से बेचा जाता है जिनकी कीमत हजारो में होती है इस मेले में गधे की कीमत उनकी उम्र और दांत देखकर तय होती है।

गधे में होती है खूबी भी :

  • पहली खूबी ये इनके चारे की कोई खास चिंता नहीं करनी होती जो भी चारा डाल दो गधा उसे ही खाकर पेट भर लेता है।
  • दूसरी सबसे बडी खूबी ये कि गधे को एक बार रास्ता बताने के बाद वो बगैर बताए या हांके अपनी जगह पहुंच जाता है।

इसे सबसे ज्यादा खरीदते है:

इसे सबसे ज्यादा धोबी या ईंट और सामान  ढुलाई का काम करने वाले लोग खरीदते हैं।

Title: donkeys fair
Shanu Shetri
Shanu Shetri - Author at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *