Home > मनभावन > चींटियों के बारे में हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य, जिनको आप ज़रूर जानना चाहेंगे

चींटियों के बारे में हैरान कर देने वाले रोचक तथ्य, जिनको आप ज़रूर जानना चाहेंगे

9 interesting Facts about ants that You probably didn't know
source: Mi Negocio Abarrotero

बरसात के दिनों में अक्सर आपने एक ही लाइन में ढेरों नन्ही-नन्ही चींटियों को अपनी पीठ पर भोजन या फिर अंडे ले जाते हुए देखा होगा। ऊंचाई से गिरकर फ़िर से ऊपर चढ़ना यहीं इनकी खासियत है। तभी तो नन्ही सी जान होने के बावजूद, इंसान किसी की हिम्मत बढ़ाने के लिए सबसे पहले चींटी का ही उदाहरण देता हैं। क्योकि कीटों की दुनिया में चींटियों में मेहनत करने की गज़ब की क्षमता होती है।

हम इंसानों की तरह ही चींटिया भी मिलनसार और सामाजिक होती है । आपस में मिल जुलकर अपना भोजन खोजना और उसको अपने राज्‍य तक ले जाना ये सब काम इनके मिलनसार होने का प्रमाण हैं।

अब आप सोच रहे होंगे की मैंने राज्य क्यों कहा, क्या वाकई में चींटियों का भी कोई राज्य होता है । इसका जवाब हैं, हाँ बिल्कुल ! चींटियों का भी अपना एक राज्‍य होता है । जिसमे वे हम इंसानों के जैसे ही छोटी-छोटी कॉलोनियाँ बनाकर रहा करती है। इन कॉलोनियों में ये  बड़े बड़े ग्रुप में रहते हैं। जिनमें सिपाही. मज़दूर और अण्डे देने वाली रानी चींटीयाँ शामिल होती हैं।

चींटियाँ वैसे तो आकार में छोटी सी होती है पर इनकी प्रजातियों पर नजर डाली जाएं तो कुछ थोड़ी बड़ी या सामान्य से एक दम बारीक़ सी होती है। वैसे इनके आकार पर मत जाएंगा। वैज्ञानिकों का मानना हैं, की छोटे आकार के होने के बावजूद उनका दिमाग़ बहुत तेजी से काम करता है।

जान तक ले सकती हैं चींटी

एक बार किसी व्यक्ति को काट दे तो निशान बना कर छोडती है। यदि एक साथ कई चींटियाँ मिलकर किसी को काट लें तो ये उस व्यक्ति के लिए बेहद ख़तरनाक साबित हो सकता है। आपको बता दे चींटियों में भी ज़हर की मात्रा पाई जाती है, अगर एक चींटी या 2 से तीन चींटियाँ काटे तो इनके काटने का कोई असर नही पड़ता बस उस जगह लाल-लाल निशान पड़ जाते है। अगर असंख्य चींटियाँ काट ले तो उनका ज़हर असर कर जाता है। और जानना हैं चींटियों के बारें में कुछ रोचक बातें जिनको जानकर आप हैरान रह जायेंगे, तो आगे की स्लाइड में पढ़े…

अगली स्लाइड में पढें

Page: 1 of 5
Title: 9 interesting facts about ants that you probably did not know

मिली-जुली खबरें

Shanu Shetri
Shanu Shetri - Author at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *