Tuesday, 21 February, 2017
Home > कहानियां

गंधर्वपुरी का श्रापित गाँव

मध्यप्रदेश के देवास जिले के गाँव गंधर्वपुरी को श्रापित गाँव माना जाता है। यह गाँव प्राचीनकाल में राजा गंधर्वसेन के श्राप से पूरा पाषाण में बदल गया था। यहां का हर व्यक्ति, पशु और पक्षी सभी श्राप से पत्थर के हो गए थे। फिर पूरी नगरी जमीन में दफन हो

Read More

सच्चे प्रेम की निशानी बना हुआ है आज भी ये सतयुग का पत्थर

बीर लोरिक का यह पत्थर सतयुग की एक प्रेम कथा को अपने में समेटे है हुए उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले की सोन नदी के किनारे खड़ा है। इसके पीछे छुपी है एक प्रेम कहानी: इस नदी के किनारे सतयुग में एक राज्य था। उस राज्य के राजा का नाम मोलागत था।

Read More

इर्ष्या में किया खुदका नुकसान

एक व्यक्ति था शिवलाल वह कही जा ही रहा था और बहुत जल्दी में था, तो अचानक वहा न्याय के देवता यमराज प्रकट हुए यमराज ने शिवलाल से पीने के लिए पानी मांगा। जल्दी में होने के बाद भी शिवलाल ने पानी पिलाया। शिवलाल ने उनसे पूछा आप तो इस शहर

Read More

पशु ,पशु ही होता है

एक राजा था जो अक्सर जंगल में शिकार को जाता था एक बार जंगल में राजा को एक बंदर बहुत पसंद आया  उसने उस बंदर को  महल में अपने पास रख लिया वह राजा उसे काम करना सिखाता था फिर बंदर भी राजा के सब काम करता था जब राजा

Read More

पल पल बदलता प्यार

एक गांव था राजापुर वहा एक लड़की रहती थी स्नेहा बात उन दिनों की है जब वह कॉलेज में पढ़ती थी और पढाई में बहुत ही तेज थी पर एक दिन एक लड़का संतोष उसकी जिंदगी मे आ गया उस लड़के ने एक दिन कॉलेज में  स्नेहा से  कहा कि

Read More

भौकने वाले भौकते है उनका काम है भौकना

एक बुजुर्ग थे रामनाथन जी  एक दिन वह टहलने निकले। सुबह सुबह टहलते टहलते उन्होंने ने देखा की एक गरीब सी फटे कपडे पहने महिला हाथ में बोरा लिए कचरा  बिनते  हुये वहा चल रही है  और गली के आवारा कुत्ते उस पर भौक रहे है ।और गली के छिछोरे

Read More

मेहनत ही है सच्चा धन

एक बुढा किसान था उसके चार बेटे थे चारो  बेटे बहुत आलसी और निक्कमे थे कभी काम में अपने पिता की कोई भी मदद नहीं करते थे चारो  बेटे बस लड़ते और झगड़ते रहते थे बुढा किसान अपने बेटों के रोज़ रोज़ के  झगड़ों से बहुत परेशान था| अपने बेटों की

Read More

कृष्णा की मेहनत रंग लाई

एक गाँव में कृष्णा नाम की लडकी रहती थी वह कक्षा 10 वी की छात्रा थी । कृष्णा छोटे जाती की थी इसलिए उसे स्कूल में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता था। स्कुल में सभी बच्चे उससे दूर रहते थे क्योकि उनके माँ बाप उन्हें धमकाते थे की छोटी

Read More

घोड़ो की भूख

राजन नाम का एक व्यक्ति था उसके पास दो घोड़े थे  उन दोनों घोड़ो की कभी बनती ही नही थी राजन परेशान हो गया था उन दोनों से  एक बार राजन ने दोनों को एक रस्सी से बाँध दिया। और खाना खाने चला गया इतने में दोनों घोड़ो ने रस्सी

Read More

लालच का फल बुरा ही होता है

एक उद्यपुर नाम का गांव था। वहाँ सभी लोग अच्छे से रहते थे एक दुसरे के साथी बनके उसी गांव  के  पास ही रतनपुर नाम का गांव था वहा दो मित्र रहते थे राजू और अर्जुन ,राजू लालची ठगी था और अर्जुन बहुत ही ईमानदार था वह जानता था कि

Read More