Wednesday, 16 August, 2017
Home > ज्योतिष > शनि जयंती : में करे ‘शनिदेव ’और ‘पितृदेव’ को खुश

शनि जयंती : में करे ‘शनिदेव ’और ‘पितृदेव’ को खुश

शनि जयंती : में करे ‘शनिदेव ’और ‘पितृदेव’ को खुश ( worship in shani jayanti )

कल है शनि जयंती शास्त्रों के अनुसार भगवान शनि का जन्म ज्येष्ठ महिने की अमावस्या को हुआ था,इसीलिए ज्येष्ठ महिने की अमावस्या को शनि जयंती के रूप में मनाई जाती है।ज्योतिष अनुसार शनिदेव की जो पूजा करता है उस पर शनि की कृपा बनी रहती है।आज हम इसी विषय में आपको बताने जा रहे है की शनि जयंती में क्या करे।

इनका करे दान…

  • शनि जयंती के दिन शनि मंदिर में जाकर सरसों का तेल दान करें। और आप चाहे तो काले जूते, काले कपड़े, काला तिल, काला छाता, सरसों का तेल आदि दान भी कर सकते है। इससे  शनि देव खुश होते हैं।
  • इस दिन पितृों को करे खुश यदि पितृ खुश तो शनिदेव खुश ,कहा जाता है जिनको पितृ दोष है उन्हें इस दिन पूजा अवश्य करनी चाहिए।

shani-dev_1495260604

सरसों का दीपक जलाये …

  • यदि आप सुबह सूर्यदेव के उगने से पहले या सूर्यदेव के डूबने के बाद किसी पीपल के वृक्ष पर जा कर सरसों के तेल का दीपक जलाते है तो ये अति उत्तम होगा शनि की कृपा दृष्टि आप पर बनी रहेगी।

 

Title: worship in shani jayanti

मिली-जुली खबरें

Shanu Shetri
Shanu Shetri - Editor at hindirasayan.com.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *